Dairy Farming Business In Hindi | डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय ऐसे शुरू करे पूरी जानकारी

Dairy Farming @ डेयरी फार्मिंग बिजनेस – डेयरी फार्म बिजनेस एक पारंपरिक बिजनेस है। जिसमें लोग पशुपालन के जरिए एक अच्छा बिजनेस शुरू कर सकते हैं। जो लोग डेयरी फार्मिंग गाय पालन व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं वे पशुपालन विभाग से संपर्क कर सकते हैं और फिर डेयरी फार्मिंग व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए उम्मीदवारों को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, उन्हें लाभ भी मिलता है। लेख के माध्यम से उम्मीदवारों को डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें? डेयरी फार्मिंग क्या है? डेयरी फार्मिंग व्यवसाय आदि के माध्यम से उम्मीदवारों को होने वाले लाभों के बारे में सभी जानकारी लेख में दी जा रही है, सभी इच्छुक उम्मीदवार नीचे दिए गए लेख को ध्यान से और पूरी प्रक्रिया को समझने के लिए अंत तक पढ़ें।

डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय ऐसे शुरू करे पूरी जानकारी | Dairy Farming Business In Hindi

डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय क्या है ?

डेयरी फार्म बिजनेस करने का बहुत अच्छा माध्यम है। जिसके माध्यम से लाभार्थी अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें गाय, भैंस, बकरी आदि जैसे दूध देने वाले कुछ जानवरों की आवश्यकता होती है। उद्यमी इन जानवरों से प्राप्त दूध को बेचकर पैसा कमा सकते हैं, यह व्यवसाय साल भर चलने वाला और स्थिर व्यवसाय है। लेख में नीचे उम्मीदवारों को डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय से संबंधित सभी जानकारी प्रदान की जा रही है।

Dairy Farming Business In Hindi Highlights

उम्मीदवार ध्यान दें, यहां हम आपको डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें? इससे जुड़ी कई जानकारियां हम आपको नीचे दी गई टेबल के जरिए देने जा रहे हैं। यह तालिका इस प्रकार है-

आर्टिकल का नाम डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय
कैसे शुरू करे
विभाग पशुपालन और डेयरी विभाग
लाभार्थी देश के नागरिक
उद्देश्य व्यवसाय करना
पशु गाय, भैंस आदि
साल 2022
ऑफिसियल वेबसाइट epashuhaat.gov.in

डेयरी फार्मिंग क्या है ?

डेयरी में मवेशी पालन कर व्यवसाय शुरू किया जा सकता है। दूध और दुग्ध उत्पादों का सेवन लगभग सभी घरों में किया जाता है। डेयरी फार्मिंग बिजनेस में आप भैंस, गाय जैसे जानवरों का पालन-पोषण करके और उनसे दूध प्राप्त करके पैसा कमा सकते हैं। इसी प्रकार दूध, पनीर, दही, घी, मक्खन, मिठाई आदि भी बनाकर बेचा जा सकता है। इन सभी खाद्य पदार्थों को बनाने में अधिक समय लगता है। और इन्हें दूध की कीमत से ज्यादा कीमत पर बेचा जा सकता है। इसके अलावा गोबर गैस में पशुओं के गोबर का उपयोग किया जा सकता है, कृषि भूमि में गाय के गोबर को खाद के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। लाभार्थी खाद बेचकर भी धन कमा सकते हैं। इस प्रकार पशुपालन के माध्यम से व्यवसाय करने की प्रक्रिया को डेयरी फार्मिंग कहा जाता है।

Dairy Farming Business के लाभ

जो उम्मीदवार डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय शुरू करते हैं, उन्हें डेयरी फार्मिंग से क्या लाभ मिलते हैं, इसकी जानकारी लेख में दी जा रही है। लाभों के बारे में अधिक जानने के लिए नीचे दी गई सूची पढ़ें।

 

  • उम्मीदवार डेयरी फार्मिंग के माध्यम से अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।
  • इस व्यवसाय का पर्यावरण पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
  • गाय के गोबर का उपयोग बायोगैस के लिए किया जा सकता है।
  • इस बिजनेस को शुरू करने के लिए ज्यादा लोगों की जरूरत नहीं होती है।
  • डेयरी फार्मिंग बिजनेस साल भर चलने वाला बिजनेस है।
  • गाय के गोबर का उपयोग कृषि में भी किया जा सकता है।
  • किसान इस व्यवसाय को अधिक से अधिक मात्रा में करते हैं क्योंकि इससे उन्हें डेयरी के साथ-साथ फसल को भी लाभ होता है।
  • डेयरी फार्मिंग शुरू करने के लिए बैंकों द्वारा कर्ज भी दिया जाता है।
  • सरकार द्वारा डेयरी फार्मिंग से जुड़ी कई योजनाएं भी शुरू की गई हैं।

डेयरी फार्मिंग व्यवसाय ऐसे शुरू करें ?

डेयरी फार्मिंग बिजनेस शुरू करने के लिए उम्मीदवारों को कुछ बातों का ध्यान रखना होता है। उन सभी चीजों की लिस्ट नीचे आर्टिकल में दी गई है।

 

  • सबसे पहले अपनी डेयरी फार्मिंग के लिए उस जगह का चयन करें जहां आप डेयरी खोलना चाहते हैं।
  • फिर आपको जानवरों को चुनना होगा कि आप किस नस्ल की गाय, भैंस रखना चाहते हैं।
  • गाय और भैंस की कई नस्लें होती हैं, जिनमें से आपको ज्यादा दूध वाली नस्ल रखनी होती है।
  • उद्यमी ज्यादातर लोगों को पसंदीदा और दुधारू भैंस की नस्लें – मेहसाणा, मुर्रा आदि रख सकते हैं।
  • और गायों की लोकप्रिय नस्लें जर्सी, साहीवाल, पश्चिमी आदि हैं।
  • इसके लिए आपको विभिन्न नस्लों की जानकारी भी जाननी होगी।
  • सभी नस्लों की अलग-अलग कीमत होती है उम्मीदवार बजट के अनुसार नस्ल ले सकते हैं।

Dairy Farming से मुनाफा

लाभार्थी कम पशुधन के साथ डेयरी फार्मिंग भी शुरू कर सकते हैं। अगर एक डेयरी आदमी के पास 20 जानवर हैं। प्रत्येक पशु प्रतिदिन यदि एक पशु 10 लीटर दूध देता है। तो 20 जानवर एक दिन में 200 लीटर दूध देते हैं। यदि लाभार्थी द्वारा 50 रुपये प्रति लीटर दूध बेचा जाता है, तो उद्यमी को प्रतिदिन 10,000 रुपये मिलते हैं, जिसमें से 5 हजार रुपये पशु आहार पर खर्च किए जाते हैं। जानवरों की देखभाल और सफाई में 3 हजार खर्च किए जाते हैं, उसके बाद हर दिन उद्यमी के पास 2000 रुपये की बचत होती है, अगर इसके अलावा उम्मीदवार अधिक जानवरों को पालते हैं, तो वे प्रति दिन इससे अधिक कमा सकते हैं।

Dairy Farming Business सम्बन्धित महत्वपूर्ण जानकारी

जो उम्मीदवार डेयरी फार्मिंग व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं उन्हें कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना होगा, वो सभी बातें लेख के माध्यम से बताई जा रही हैं। नीचे दी गई सूची से पूरा विवरण प्राप्त करें।

डेयरी फार्मिंग के लिए जगह

लाभार्थी जो डेयरी शुरू करना चाहते हैं f आर्मिंग व्यवसाय में डेयरी खोलने के लिए खुली जगह होनी चाहिए जहां वे अपने पशुओं को रख सकें। अगर उम्मीदवार के पास 50 वर्ग फुट जगह है तो वे इस जगह में सिर्फ एक गाय और एक भैंस रख सकते हैं. लेकिन अगर बड़ा डेयरी फार्मिंग बिजनेस शुरू करना है तो इसके लिए लाभार्थियों को और जगह की भी जरूरत है। जिसके लिए कम से कम 1000 से 3000 वर्ग फुट या इससे ज्यादा जगह होनी चाहिए। जानवरों को रखने के लिए ऐसी जगह पर बाड़ बना लें जहां पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन हो।

नस्लों का चयन

यरी फार्मिंग शुरू करने के लिए उद्यमियों को सबसे पहले गाय और भैंस की अच्छी नस्लों के बारे में पता होना चाहिए। सभी नस्लों के जानवरों की कीमत के साथ दूध की मात्रा भी अलग-अलग होती है इसलिए उन नस्लों को चुनें जो ज्यादा फायदा देती हों। नस्ल का चयन उद्यमियों द्वारा जलवायु को ध्यान में रखकर किया जाना चाहिए। अलग-अलग शहरों में अलग-अलग जलवायु के कारण शहरों में रहने वाली गायें ग्रामीण इलाकों में नहीं रह पाती हैं। इसलिए किसी जानवर को लेने से पहले मौसम पर भी ध्यान दें।

गाय की नस्लें:- जर्सी, साहीवाल, सिंधी, थारपारकर, आदि।

भैंस की नस्लें- मुर्राह, जाफराबादी, जाफराबादी, भदावरी आदि।

 

पशु कहाँ से खरीदे ?

डेयरी फार्म खोलने के लिए उद्यमी अपनी पसंद की गाय, भैंस की नस्ल का चयन कर सकते हैं। इसके लिए सरकार द्वारा एक ऑनलाइन वेबसाइट भी जारी की गई है, सभी इच्छुक उम्मीदवार पशुपालन एवं डेयरी विभाग की आधिकारिक वेबसाइट epashuhaat.gov.in पर जाकर अपनी पसंद की गाय-भैंस खरीद सकते हैं, जिनकी पोर्टल पर पूरी जानकारी दी गई है।

पशुओं के लिए चारा

डेयरी फार्मिंग में पशुओं के लिए ऐसे भूसे और चारे का इस्तेमाल करना चाहिए जिनमें पोषक तत्व पूरी मात्रा में हों। पशुओं के लिए ऐसे चारे का प्रयोग करें जिसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा प्रचुर मात्रा में हो। समय-समय पर पशुओं को चारा दें, इसके अलावा किसान खेतों में घास भी पशुओं को खिला सकते हैं। चारे में अधिक से अधिक हरे चारे का प्रयोग करना चाहिए।

 

डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय से सम्बन्धित कुछ प्रश्न और उसके उत्तर

पशुपालन और डेयरी विभाग की आधिकारिक वेबसाइट कौन सी है।

पशुपालन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट epashuhaat.gov.in है। हमने आपको इस लेख में इस वेबसाइट का लिंक प्रदान किया है।

डेरी फार्मिंग शुरू करने के लिए पशुओं को कहाँ से खरीद सकते हैं ?

डेयरी फार्मिंग शुरू करने के लिए उद्यमियों को पशुपालन और डेयरी विभाग से संपर्क करना चाहिए, जहां उम्मीदवारों को सभी नस्लों के जानवर मिलेंगे।

Dairy Farming Business खोलने के लिए गाय, भैंस की कौन सी नस्लों को लेना चाहिए ?

डेयरी फार्मिंग व्यवसाय के लिए आप सिंधी, फारसी, थारपारकर, साहीवाल आदि नस्लों की गायें और भदावरी, मुर्रा, जाफराबादी आदि नस्ल की भैंसें ले सकते हैं। भैंस की नस्लें ली जा सकती हैं।

डेरी फार्मिंग कौन-कौन खोल सकता है ?

कोई भी डेयरी फार्मिंग व्यवसाय शुरू कर सकता है, इसके लिए वे विभाग से संपर्क कर सकते हैं।

पशुओं को कैसा चारा देना चाहिए ?

डेयरी फार्मिंग में पाले गए जानवरों को ऐसा चारा दिया जाना चाहिए जो कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा से भरपूर हो। जिससे उनकी दूध देने की क्षमता बढ़ जाती है।

गाय पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए कैसे शुरुआत करनी होगी ?

डेयरी फार्मिंग व्यवसाय शुरू करने के लिए उम्मीदवारों को पहले डेयरी के लिए ऐसी जगह का चयन करना होगा जहां पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन आए और सभी जानवरों के लिए खुली जगह हो, उसके बाद गाय और भैंस की नस्ल जिसे लाभार्थी रखना चाहता है। इसकी पूरी जानकारी प्राप्त कर विभाग से संपर्क कर अभ्यर्थी पशुओं को ले जा सकते हैं।

हेल्पलाइन नंबर

जैसा कि इस लेख में हमने आपको बताया है कि डेयरी फार्म गाय पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें? इसकी पूरी जानकारी आपको उपलब्ध करा दी गई है, अगर आपको इन जानकारियों के अलावा और कोई जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में मैसेज करके पूछ सकते हैं। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपकी मदद करेगी।


Read Also 

आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना 2022 

pm kisan samman nidhi